डीडीए ने लैंड पूलिंग ज़ोनल प्लान के लिए ड्रोन मैपिंग द्वारा सर्वेक्षण शुरू किया।

DDA, Land Pooling policy, Latest Real Estate News, Trending News
delhi-land-pooling-policy

लैंड पूलिंग पॉलिसी की पुख्ता प्लानिंग के लिए दिल्ली विकास प्राधिकरण (डीडीए) ने अब ड्रोन का सहारा लिया है। पहली बार दिल्ली का ड्रोन सर्वे शुरू हो गया है। पायलट प्रोजेक्ट के तौर पर इसकी शुरुआत एन जोन से की गई है। इसके बाद अन्य जोनों का सर्वे होगा। इस सर्वे में हर जोन के क्षेत्रफल, बिलिं्डग, हरित क्षेत्र, सड़कों, पार्क आदि का पता लगाया जाएगा और फिर उसी के अनुरूप प्लानिंग की जाएगी।

जानकारी के मुताबिक, लैंड पूलिंग पॉलिसी को पांच जोनों एन, पी टू, के वन, एल और जे में में बांटा गया है। डीडीए अब इन जोनों का डेवलपमेंट प्लान तैयार करा रहा है, लेकिन कहीं कोई मै¨पग नहीं होने के कारण इसमें परेशानियां आ रही हैं। इसीलिए डीडीए ने लैंड पूलिंग पॉलिसी के लिए ड्रोन सर्वे से मै¨पग का काम शुरू कराया है। मै¨पग का काम आइआइटी रुड़की और सर्वे ऑफ इंडिया मिलकर कर रहे हैं। सर्वे के दौरान एन जोन की हर गतिविधि और डाटा को रिकार्ड किया जा रहा है। इसके आधार पर ही जोन में हो रहे अतिक्रमण को रोकने में मदद मिलेगी। इससे यह भी स्पष्ट हो जाएगा कि कहां कितनी जमीन है, कहां इमारते हैं, कहां हरित क्षेत्र और कहां अवैध कब्जे है।

यहां यह भी उल्लेखनीय है कि डीडीए की लैंड पूलिंग पॉलिसी के तहत 5 अगस्त तक 4,281 आवेदन आए थे। कुल 4452 हेक्टेयर जमीन पंजीकृत हो चुकी है। इसमें सबसे अधिक 37.4 फीसद जमीन एन जोन के लिए ही पंजीकृत हुई है। एन जोन में कुल 9,724 हेक्टेयर जमीन पंजीकृत की जानी है। इसमें से 6,516 हेक्टेयर जमीन पर विकास कार्य होने हैं। इसीलिए डीडीए ने सर्वे के लिए पहले चरण में इसी जोन को चुना है।

डीडीए अधिकारियों का कहना है कि अभी तक दिल्ली की कोई मै¨पग नहीं है। इस कारण यह तक पता नहीं चल पाता कि डीडीए या किसी अन्य एजेंसी के पास जमीन कितनी है, कहां अतिक्रमण की समस्या अधिक है और कहां अवैध कब्जे ज्यादा हैं। अगर ड्रोन से दिल्ली की मै¨पग हो गई तो दिल्ली के लिए प्लानिंग करना काफी आसान हो जाएगा।

लैंड पूलिंग जोनल प्लान तैयार करने के लिए डीडीए करा रहा सर्वे

  • पहली बार दिल्ली विकास प्राधिकरण ने शुरू कराया दिल्ली का ड्रोन सर्वे
  • एन जोन से हुई शुरुआत इसी के अनुरूप होगी बाकी जोन की प्लानिंग

पहले चरण में एन जोन का ड्रोन सर्वे करवाया जा रहा है। इसके बाद यह सर्वे बाकी जोन में होगा। इसका मकसद दिल्ली के लिए बेहतर प्लानिंग तैयार करना है। एन जोन का डेवलपमेंट प्लान भी इसी मै¨पग के आधार पर तैयार होगा।

तरुण कपूर, उपाध्यक्ष, डीडीए।

Courtesy: https://epaper.jagran.com/

Tagged , ,