लैंड पूलिंग के दो जोन में फ्लैट बनेंगे

DDA, Delhi Development Authority, Delhi LPP, Land Pooling policy, Latest Real Estate News, Property, Real Estate
Land Pooling News

दिल्ली में लैंड पूलिंग पोर्टल शुक्रवार को बंद हो जाएगा। इससे पहले इस पोर्टल के माध्यम से दिल्ली विकास प्राधिकरण (डीडीए) को बुधवार तक 5 हजार हेक्टेयर से अधिक जमीन मिल चुकी है। सबसे अधिक जमीन एन जोन में *मिली है।

डीडीए के अनुसार लैंड पुलिंग पॉलिसी के तहत सबसे पहले एन और पी-2 जोन में फ्लैट बनाए जाएंगे। इन्हीं दो जोनों में किसानों ने अपनी जमीन का पंजीकरण कराने में सबसे ज्यादा रूचि दिखाई है। जल्द ही इन जोनों का डेवलपमेंट प्लान भी बन जाएगा।

बुधवार यानि चार सितंबर तक पॉलिसी के तहत 5,348 हेक्टेयर जमीन के लिए पंजीकरण हो चुका है। सबसे अधिक जमीन एन जोन में आई है, जहां 2,823 हेक्टेयर जमीन का पंजीकरण हुआ है। दूसरे नंबर पर पी-टू जोन है। यहां पर 1,070 हेक्टेयर जमीन का पंजीकरण हुआ है। तीसरे नंबर पर एल जोन है जहां 1,251 हेक्टेयर जमीन का पंजीकरण हुआ है। सबसे कम पंजीकरण के-1 जोन में हुआ है, जहां महज 204 हेक्टेयर जमीन पंजीकृत हुई है। जे जोन के विकसित होने में ही संदेह है क्योंकि यहां जमीन के पंजीकरण को किसान आगे ही नहीं आ रहे हैं।

डीडीए अधिकारियों को उम्मीद है कि एन और पी टू जोन में तो पूल की गई जमीन की 70 फीसद न्यूनतम सीमा को प्राप्त कर लिया जाएगा। मालूम हो कि किसी भी एक जोन को विकसित करने के लिए वहां डीडीए के पास कम से कम 70 फीसद जमीन होनी चाहिए।

Courtesy From: http://epaper.livehindustan.com/